HomeChuru Patrikaचुरू - रोडवेज बस डिपो मे हुई फायरिंग, बस के कंडेक्टर को...

चुरू – रोडवेज बस डिपो मे हुई फायरिंग, बस के कंडेक्टर को लगे छर्रे

- Advertisement -

बुधवार रात बस स्टैंड डिपो में दहशत फैल गई। जब रोडवेज बस का कंडक्टर गोलीबारी में उलझा हुआ था, तो उसे दो छर्रे लगे। हालांकि, बस में सवार यात्री सुरक्षित रहे। घटना के बाद फायरिंग करने वाले भाग निकले। सूचना मिलने पर एसपी नारायण तोगा, डीएसपी ममता सारस्वत और पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे।

पुलिस टीमें आरोपियों को पकड़ने के लिए देर रात तक हाथापाई करती रहीं, लेकिन उनका कोई सुराग नहीं लगा। एसपी नारायण तोगा के मुताबिक, बस स्टैंड पर ढाबे पर बैठे जीतू की जोड़ी, संदीप कादियान और संजय भामासी और फरियाद के भाई के बीच गोलीबारी हुई।

इस बारे में जानकारी जुटाई जा रही है कि क्या जीतू और उसके साथियों द्वारा दोनों ओर से गोलीबारी हुई थी। इस दौरान हिसार से जोधपुर जा रही चूरू डिपो की एक बस थी। बस कंडक्टर सुमेर सिंह निवासी बरदास सवारियों के लिए आवाज लगा रहा था। इस दौरान फायरिंग में दो गोलियां दागी गईं। कोतवाली में देर रात तक कोई मामला दर्ज नहीं हुआ था।

सवारियों के लिए आवाज लगाते समय जब अचानक गोलियों की आवाज आई तो वे अपनी जान बचाने के लिए भागने लगे।

गवर्नमेंट डीबी अस्पताल में भर्ती चूरू डिपो की बस के कंडक्टर सुमेर सिंह ने कहा कि जब वह हिसार से बस डिपो आए, तो वह नीचे आए और सवारियों के लिए आवाजें लगाने लगे। उस समय बस में लगभग 20 यात्री थे। बस में करीब पांच-सात यात्री थे। जब उसे किसी का फोन आया तो उसने बात करना शुरू कर दिया। उसी समय गोलियों की आवाज आने लगी।

बुधवार रात बस स्टैंड डिपो में दहशत फैल गई। जब रोडवेज बस का कंडक्टर गोलीबारी में उलझा हुआ था, तो उसे दो छर्रे लगे।

जब वह अपनी जान बचाने के लिए भागा, तो उसके पैर में छर्रे लग गए। उन्हें अस्पताल लाया गया, जहां एक गोली चलाई गई। गुरुवार को दूसरी गोली चलाई जाएगी।

कई सालों के बाद, चुरू में एक गिरोह युद्ध की अफवाह उड़ी।

बस स्टैंड में फायरिंग ने कई वर्षों के बाद शहर में फिर से एक गिरोह युद्ध छिड़ गया है। शुक्र है कि बस में सवार यात्री सुरक्षित थे। वर्चस्व की लड़ाई में फायरिंग ने भी पुलिस की चुनौती बढ़ा दी है। हालांकि पुलिस की टीमों ने रात भर गोलीबारी करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए हाथापाई की, लेकिन उनका कोई सुराग नहीं था। कई साल पहले, इनमें से कुछ आरोपियों ने रात में रेलवे स्टेशन से मोचीवाड़ा तक गोलीबारी की।

चार टीमें आरोपियों की तलाश कर रही हैं, देर रात तक किसी भी पार्टी ने सूचना नहीं दी

बस स्टैंड पर फायरिंग के बाद चार टीमें बनाई गई हैं जो आरोपियों की तलाश कर रही हैं। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। अभी तक किसी भी पक्ष ने पुलिस को कोई रिपोर्ट नहीं दी है। शहर में शांति भंग करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा।

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -

Related News

- Advertisement -